वोट, विकास और वाकपटुता

देश के युवाओं का राजनीती में घुसना और रूचि लेना अत्यंत आवश्यक हो गया है, क्योंकि जिंदगी के आखिरी कगार पर खड़े बुड्ढों की राजनीती में विकास से ज्यादा षड़यंत्र की बू आती है!

बाबा लोगों की सुट्टेबाज़ लौंडिया का सलाम !

आज की ताज़ा खबर में तो दूसरे चरण का चुनाव ही है, और हर तरफ, आएंगे मोदी जी ही के MEME, मतलब एकदम चरस बो रखी है, अरे किसी न किसी को तो आना ही है, अब कांग्रेस इतना रायता पहले ही फैला चुकी है की न आये और केजरीवाल साहब ने तो अपनी इज़्ज़त ही खो दी है, कभी गठबंधन तो कभी गाली, उनका हाल मोहल्ले के आंटियों सा हो गया है, खुद से ही बातें करते है वो, फिर चाहे कोई समझे या न समझे!

फिलहाल तो बीजेपी का ही डंका है, किसी की में चौकीदार साहूकार है, तो किसी की नज़र में चोर, हमारी तो कोई राय नहीं, बस इतना ही कहना है की हमारे मोहल्ले का चौकीदार चोर तो नहीं पर इधर उधर थोड़ा बहुत तो उसका चलता ही है, अब इतना तो सबका हक़ बनता ही है!

कल ट्विटर पर राजनीती के तीस मार खानो के विचार पढ़े तो जाना की, आधे लोग मोदी को इस लिए वापस लाना चाहते है की चोरी तो सब करते है, बस वो कम करते है, 130 करोड़ की आबादी वाले देश में, हमारे पास विकल्प ही नहीं है, या तो हमे बड़े चोर को चुनना होगा या छोटे!

मोदी भक्तो की संख्या की कम नहीं है, कूटनीति और प्रतिभाशाली व्यक्तित्व के साथ, मोदी जी की बोलने की प्रतिभा अतुलनीय है, और इस बात के लिए वो प्रशंसा के हक़दार भी है, परन्तु उन्हें ये बात भी ध्यान रखनी चाहिए की भारत की युवा शक्ति को ज्यादा समय तक केवल वाकपटुता से गुमराह किये रहना आसान नहीं होगा उनके लिए!

और इन हज़ारों विचारों के बीच एक विचार ये भी लोगों ने रखा है की, मोदी को वोट मत दो, और कांग्रेस को भी वोट मत दो, और आप को तो बिल्कुल ही वोट मत दो, मतलब वोट हमे नहीं पता किसे दो, लेकिन हम ये बतायंगे की किसे मत दो!

मेरे हिसाब से फिलहाल तो, मोदी ही सबसे बेहतर विकल्प है, बची पार्टियों की तुलना में, परन्तु, देश के युवाओं का राजनीती में घुसना और रूचि लेना अत्यंत आवश्यक हो गया है, क्योंकि जिंदगी के आखिरी कगार पर खड़े बुड्ढों की राजनीती में विकास से ज्यादा षड़यंत्र की बू आती है!

बाकी तो समझदार आप सब खुद ही हैं, कुछ भी करे, कहीं भी जाए, पर वोट जरूर दे, आपका वोट अमूल्य है, अगर किसी भी तरफ मन न जाए तो NOTA का उपयोग करे , पर वो जरूर दे!

तब तक आते है हम एक सुट्टा लगा के….

हर हर महादेव!

Please follow and like us:
error

Leave a Reply

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: